Astrology

Know About Pitra Dosh And Its Remedies | क्‍या है पितृदोष और उसके निवारण के उपाय – Others


क्‍या है पितृदोष और उसके निवारण के उपाय

मृत्‍यु के पश्‍चात जब आत्‍मा किसी कारणवश मुक्ति न पाकर मृत्‍यु लोक में ही भटकती रहती है तो ऐसा होने पर उस परिवार के किसी सदस्‍य पर इसका विपरीत प्रभाव भी पड़ सकता है। इसे ही पितृ दोष कहते हैं। इससे व्‍यक्ति को घबराने की आवश्‍यकता नहीं होती। बस कुछ आसान से उपाय आजमाकर हम इसे दूर कर सकते हैं…

-प्रत्‍येक अमावस्‍या पर पितरों के निमित्‍त श्राद्धकर्म करना चाहिए और एक ब्राह्मण को भोजन अवश्‍य कराना चाहिए और दान भी करना चाहिए।

-अमावस्‍या को श्राद्ध के साथ ही गुग्‍गल मिश्रित धूप अपने पितरों को दिखाते हुए पूरे घर में घुमानी चाहिए।

-घर में पितृदोष होने पर प्रतिदिन सुबह स्‍नान के पश्‍चात गीता का पाठ करना चाहिए।

-गृहिणी को स्‍नान के बाद भोजन बनाकर गौ माता के लिए पहली रोटी निकालकर उस पर गुड़ रखकर गाय को खिलाना चाहिए।

-पितृदोष होने पर गया में जाकर पिंडदान करने से लाभ होता है। अंत्‍येष्टि कर्म में भी हुई त्रुटि का निवारण भी गया में पिंडदान करने से हो जाता है।

-घर में पीने के पानी के स्‍थान को हमेशा साफ-सुथरा रखें। इसे पितरों का स्‍थान माना जाता है।

-कई बार कुछ विशेष तिथियों पर मांस भक्षण करने या फिर मदिरा का सेवन करने से भी पितृ दोष लगता है। ऐसे में आपको अपने पितरों का स्‍मरण करके क्षमा प्रार्थना करनी चाहिए।

-मृतक के परिजनों को उनकी पुण्‍यतिथि पर घर पूजा-पाठ का आयोजन करवाना चाहिए।




Source link

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close
Skip to toolbar